NSTL

DRDO ने SAHAYAK-NG का सफल परीक्षण किया

रक्षा अनुसंधान व  विकास संगठन (DRDO) ने भारतीय नौसेना के साथ गोवा के तट पर भारतीय नौसेना के IL 38SD एयरक्राफ्ट से एयर ड्राप्ड कंटेनर SAHAYAK-NG का सफल परीक्षण किया। SAHAYAK-NG भारत में स्वदेशी रूप से डिजाइन और विकसित पहला एयर ड्राप्ड कंटेनर है। इस कंटेनर में सामान को रख कर, इसे एयरक्राफ्ट या हेलीकाप्टर की सहायता से किसी भी स्थान पर गिराया जा सकता है। इसके बाद सामान की डिलीवरी के लिए एयरक्राफ्ट या हेलीकाप्टर को लैंड करने की आवश्यकता नहीं होगी।

मुख्य बिंदु

इस परीक्षण का आयोजन गोवा में किया गया। SAHAYAK-NG से भारतीय नौसेना की परिचालन रसद क्षमता में वृद्धि होगी। इससे तट से 2000 किलोमीटर से अधिक दूरी पर तैनात जहाजों के लिए महत्वपूर्ण सामग्री भेजी जा सकती है। अब इन जहाजों को  पुर्जों और अन्य सामानों के लिए बार-बार तट के नज़दीक नहीं आना पड़ेगा।

SAHAYAK-NG  के निर्माण में DRDO की प्रयोगशालाएं NSTL विशाखापत्तनम और ADRDE, आगरा शामिल थीं। इसके अलावा GPS इंटीग्रेशन के लिए M / s Avantel ने भी महत्वपूर्ण सहयोग दिया है।

SAHAYAK-NG, SAHAYAK Mk I. का एक उन्नत संस्करण है। इस अन्य नए विकसित जीपीएस एडेड एयर ड्रॉप कंटेनर में 50 किलोग्राम तक वजन वाले पेलोड को ले जाने की क्षमता होती है और इसे भारी विमान से गिराया जा सकता है।

इस सफल परीक्षण के बाद डीआरडीओ के अध्यक्ष डॉ. जी. सतीश रेड्डी ने डीआरडीओ के वैज्ञानिकों, भारतीय नौसेना और इस परीक्षण से जुड़े अन्य भागीदारों को बधाई दी।

Month:

Advertisement