OFB

7 नई रक्षा कंपनियां राष्ट्र को समर्पित की गयी

15 अक्टूबर, 2021 को रक्षा मंत्रालय द्वारा सात नई रक्षा कंपनियों को राष्ट्र को समर्पित किया गया। मुख्य बिंदु  आयुध निर्माणी बोर्ड (OFB) से निर्मित की गई सात कंपनियां हैं: Munitions India Limited (MIL), Armoured Vehicles Nigam Limited (AVNL), Troop Comforts Limited (TCL), Gliders India Limited (GIL), Armoured Vehicles Nigam Limited (AVANI), Advanced Weapons and Equipment

Month:

आयुध निर्माणी बोर्ड (Ordnance Factory Board) को भंग किया गया

रक्षा मंत्रालय ने 1 अक्टूबर, 2021 से आयुध निर्माणी बोर्ड (Ordnance Factory Board – OFB) को प्रभावी रूप से भंग करने का आदेश जारी किया है। मुख्य बिंदु  1 अक्टूबर के बाद, इसकी संपत्ति, कर्मचारियों और प्रबंधन को 7 नवगठित रक्षा सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों (DPSUs) में स्थानांतरित कर दिया जाएगा। यह आदेश OFB  को

Month:

लोकसभा में आवश्यक रक्षा सेवा विधेयक (Essential Defence Services Bill) पेश किया गया

22 जुलाई को आवश्यक रक्षा सेवा विधेयक (Essential Defence Services Bill) लोकसभा में पेश किया गया। मुख्य बिंदु आवश्यक रक्षा सेवा विधेयक देश भर में सरकारी स्वामित्व वाली सभी आयुध कारखानों (ordnance factories) के कर्मचारियों को हड़ताल पर जाने से रोकने के उद्देश्य से पेश किया गया है। इस विधेयक में कहा गया है कि

Month:

कानून मंत्रालय ने रक्षा सेवाओं में हड़ताल पर रोक लगाने के लिए अध्यादेश जारी किया

कानून मंत्रालय ने 30 जून, 2021 को आवश्यक रक्षा सेवा अध्यादेश (Essential Defence Services Ordinance) को अधिसूचित किया है। यह अध्यादेश आवश्यक रक्षा सेवाओं में लगे कर्मचारियों को किसी भी आंदोलन या हड़ताल में भाग लेने से रोकता है। इस अध्यादेश को क्यों अधिसूचित किया गया? आवश्यक रक्षा सेवा अध्यादेश 2021 को आयुध निर्माणी बोर्ड

Month:

आयुध निर्माणी बोर्ड (Ordnance Factory Board) का पुनर्गठन किया जायेगा

सरकार ने आयुध निर्माणी बोर्ड (Ordnance Factory Board) को भंग करने के अपने निर्णय को मंजूरी दे दी है और इसे 7 नए रक्षा सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों (PSUs) द्वारा प्रतिस्थापित किया जायेगा। जो भारत में 41 आयुध कारखानों की देखरेख करेगा। ये सात संस्थाएं 100% सरकार के स्वामित्व में होंगी। पुनर्गठन का उद्देश्य यह

Month:

Advertisement