PM-KISAN)

भारत सरकार ने उर्वरक सब्सिडी में 140% की वृद्धि की

19 मई, 2021 को भारत सरकार ने उर्वरक सब्सिडी को बढ़ाकर 1,200 रुपये प्रति बैग कर दिया। पहले यह 500 रुपये प्रति बैग थी। इस प्रकार, सब्सिडी में 140% की वृद्धि की गई है।

सब्सिडी क्यों?

देश में उर्वरकों के दाम तेजी से बढ़ रहे हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अमोनिया, फॉस्फोरिक एसिड आदि की कीमतें बढ़ रही हैं। वे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 60% से 70% तक बढ़े हैं।

इससे किसानों को क्या लाभ होगा?

उर्वरक बैग की वास्तविक कीमत अब 2,400 रुपये है। पहले की सब्सिडी से किसान को खाद की बोरी 1900 रुपये में मिल जाती थी। बढ़ी हुई सब्सिडी से किसान को अब 1,200 रुपये में यह बोरी मिलेगी।

बढ़ी उर्वरक सब्सिडी के लिए बजट

भारत सरकार पहले रासायनिक सब्सिडी के लिए 80,000 करोड़ रुपये खर्च कर रही थी। अब सब्सिडी में बढ़ोतरी से भारत सरकार 14,775 करोड़ रुपये अतिरिक्त खर्च करेगी।

भारत सरकार द्वारा हाल ही में PM-KISAN के तहत किसानों के खाते में 20,667 करोड़ रुपये हस्तांतरित करने के बाद यह किसानों के हित में दूसरा बड़ा कदम है।

पृष्ठभूमि

भारत सरकार “No Denial” नीति का पालन कर रही थी। इस नीति के तहत, कोई भी व्यक्ति सब्सिडी वाले उर्वरकों को पॉइंट-ऑफ-सेल मशीनों के माध्यम से खरीदेगा। अगस्त 2020 में, भारत सरकार ने सीमा को 100 बैग तक सीमित कर दिया। बाद में जनवरी 2020 में प्रति व्यक्ति प्रति माह 50 बैग तक प्रतिबंध को और बढ़ा दिया गया। ऐसा इसलिए किया गया क्योंकि कीमतों को संशोधित करने के लिए भारत सरकार के पास कोई हेडरूम नहीं बचा था।

Month:

पीएम किसान सम्मान निधि (PM Kisan Samman Nidhi) की 8वीं किस्त जारी की गयी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (PM Kisan Samman Nidhi) की आठवीं किस्त जारी की।

पीएम किसान सम्मान निधि (PM Kisan Samman Nidhi)

इस योजना के तहत, भारत सरकार छोटे और सीमांत किसानों के खाते में 6,000 रुपये स्थानांतरित करती है। इन पैसों को तीन किस्तों में स्थानांतरित किया जाता है। 2,000 रुपये की पहली किस्त अप्रैल और जून के बीच दी जाती है। दूसरी किस्त अगस्त और नवंबर के बीच दी जाती है। तीसरी किस्त दिसंबर और मार्च के बीच दी जाती है।

योजना के बारे में

  • इस योजना को 2018 में शुरू किया गया था।
  • यह योजना उन किसानों को वित्तीय सहायता प्रदान करती है जिनके पास दो हेक्टेयर तक भूमि है।
  • इस योजना के तहत अब तक भारत सरकार ने 75,000 करोड़ रुपये प्रदान किए हैं।
  • इसका उद्देश्य 125 मिलियन किसानों को कवर करना है।

PM-Kisan Portal

इस योजना के लाभार्थी PM-Kisan Portal (https://pmkisan.gov.in/) में अपने आवेदन की स्थिति (status) की जाँच कर सकते हैं। वे मोबाइल नंबर या आधार नंबर या खाता संख्या दर्ज करके विवरण प्राप्त कर सकते हैं।

यह किसान का नाम और उसके बैंक खाते में भेजी गई राशि की जानकारी प्रदान करेगा।

 

Month:

24 फरवरी : प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के 2 साल पूरे हुए

24 फरवरी, 2021 को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के 2 साल पूरे हो गये हैं। इस योजना को किसानों की आय में वृद्धि करने के उद्देश्य से लांच किया गया था। इस योजना के तहत किसानों को 6,000 रुपये प्रतिवर्ष की वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है।

इस योजना को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 24 फरवरी, 2019 को उत्तर प्रदेश के गोरखपुर से लांच किया था। इसका क्रियान्वयन केन्द्रीय कृषि व किसान कल्याण मंत्रालय द्वारा किया जा रहा है।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (PM-KISAN)

  • केंद्र सरकार छोटे व सीमान्त किसानों को प्रतिवर्ष 6000 रुपये की वित्तीय सहायता देगी।
  • इस योजना से सरकार खजाने से 75,000 करोड़ रुपये व्यय किया जायेंगे।
  • इस योजना का उद्देश्य उन किसानों की सहायता करना है जिन्हें ख़राब मौसम अथवा कम कीमत के कारण नुकसान होता है।
  • यह 6000 रुपये की राशि 2000-2000 हज़ार की तीन किश्तों में सीधे किसानों के खातों में हस्तांतरित की जायेगी।
  • इस योजना का लाभ वे किसान ले सकते हैं, जिनके पास 2 हेक्टेयर से कम भूमि है।
  • इस योजना से लगभग 12 करोड़ किसान लाभान्वित होंगे।

Month:

प्रधानमंत्री मोदी ने पीएम-किसान योजना के तहत 9 करोड़ से अधिक किसानों को 18,000 करोड़ रुपये की किश्त जारी की

25 दिसम्बर, 2020 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने  प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (PM-KISAN) किश्त जारी की। इसके तहत प्रत्येक किसान को 2000 रुपये प्राप्त हुए। इस किश्त का लाभ 9 करोड़ किसानों को होगा, इसके लिए 18,000 करोड़ रुपये व्यय किये गये।

मुख्य बिंदु

इस मौके पर प्रधानमंत्री विभिन्न राज्यों के किसानों के साथ बातचीन भी की। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने किसानों के लिए सरकार की विभिन्न योजनाओं का ज़िक्र भी किया।  साथ ही प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जब से यह योजना शुरू हुई है, तब से लेकर अब तक कुल मिलाकर 1,10,000 करोड़ रुपये किसानों के खातों में पहुँच चुके हैं।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की इस किश्त को 25 दिसम्बर को जारी किया गया। गौरतलब है कि 25 दिसम्बर को देश के पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी की जयंती है, इस दिन को सुशासन दिवस के रूप में मनाया जाता है।

गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने 2022-23 तक किसानों की आय को दोगुना करने का लक्ष्य रखा है। इसी दिशा में केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना शुरू की थी। इस योजना के तहत किसानों को एक साल में 2000 रुपये की तीन किश्तों के द्वारा 6000 रुपये की आर्थिक सहायता दी जाती है। इस राशी से छोटे व सीमान्त किसान अपने कृषि खर्च का वहन कर सकते हैं।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (PM-KISAN)

इस योजना के केंद्र सरकार छोटे व सीमान्त किसानों को प्रतिवर्ष 6000 रुपये की वित्तीय सहायता देती है। इस योजना से सरकार खजाने से 75,000 करोड़ रुपये व्यय किये जायेंगे। इस योजना का उद्देश्य उन किसानों की सहायता करना है जिन्हें ख़राब मौसम अथवा कम कीमत के कारण नुकसान होता है। यह 6000 रुपये की राशि 2000-2000 हज़ार की तीन किश्तों में सीधे किसानों के खातों में हस्तांतरित की जाती। इस योजना का लाभ वे किसान ले सकते हैं, जिनके पास 2 हेक्टेयर से कम भूमि है।

Month:

प्रधानमंत्री मोदी पीएम-किसान योजना के तहत 9 करोड़ से अधिक किसानों को 18,000 करोड़ रुपये की किश्त जारी करेंगे

25 दिसम्बर, 2020 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (PM-KISAN) किश्त जारी करेंगे। इसके तहत प्रत्येक किसान को 2000 रुपये मिलेंगे। इस किश्त का लाभ 9 करोड़ किसानों को होगा, इसके लिए 18,000 करोड़ रुपये खर्च किये जायेंगे।

मुख्य बिंदु

गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने 2022-23 तक किसानों की आय को दोगुना करने का लक्ष्य रखा है। इसी दिशा में केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना शुरू की थी। इस योजना के तहत किसानों को एक साल में 2000 रुपये की तीन किश्तों के द्वारा 6000 रुपये की आर्थिक सहायता दी जाती है। इस राशी से छोटे व सीमान्त किसान अपने कृषि खर्च का वहन कर सकते हैं।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की इस किश्त को 25 दिसम्बर को जारी किया जायेगा। गौरतलब है कि 25 दिसम्बर को देश के पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी की जयंती है, इस दिन को सुशासन दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस मौके पर प्रधानमंत्री विभिन्न राज्यों के किसानों के साथ बातचीन भी करेंगे।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (PM-KISAN)

इस योजना के केंद्र सरकार छोटे व सीमान्त किसानों को प्रतिवर्ष 6000 रुपये की वित्तीय सहायता देती है। इस योजना से सरकार खजाने से 75,000 करोड़ रुपये व्यय किये जायेंगे। इस योजना का उद्देश्य उन किसानों की सहायता करना है जिन्हें ख़राब मौसम अथवा कम कीमत के कारण नुकसान होता है। यह 6000 रुपये की राशि 2000-2000 हज़ार की तीन किश्तों में सीधे किसानों के खातों में हस्तांतरित की जाती। इस योजना का लाभ वे किसान ले सकते हैं, जिनके पास 2 हेक्टेयर से कम भूमि है।

Month:

Advertisement