Serum Institute of India

भारत सरकार ने 11 मिलियन कोविशील्ड वैक्सीन डोज़ के लिए सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया के साथ समझौता किया

भारत सरकार ने हाल ही में 11 मिलियन कोविशील्ड वैक्सीन डोज़ के लिए सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया के साथ समझौते पर हस्ताक्षर किये। सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया ने इस वैक्सीन की आपूर्ति भी शुरू कर दी है। 12 जनवरी, 2021 को इस वैक्सीन की पहली खेप को हवाई जहाज़ के ज़रिये दिल्ली भेजा गया। मुख्य

Month:

आज COVID-19 टीकाकरण के लिए राष्ट्रव्यापी ड्राई रन आयोजित किया जायेगा

COVID-19 वैक्सीन के लिए ड्राई रन 2 जनवरी, 2021 को पूरे देश में आयोजित किया जाएगा। केंद्र सरकार ने सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को वैक्सीन रोल आउट के लिए प्रभावी तैयारी सुनिश्चित करने के लिए कहा है। यह एक प्रकार की मॉक ड्रिल है, इसमें टीकाकरण की तैयारियों का परीक्षण किया जायेगा। इससे पहले

Month:

ऑक्सफ़ोर्ड-एस्ट्राज़ेनेका की वैक्सीन कोविशील्ड की आपातकालीन उपयोग के लिए अनुशंसा की गयी

Central Drugs Standard Control Organization (CDSCO) की विशेषज्ञ समिति ने हाल ही में ऑक्सफ़ोर्ड-एस्ट्राज़ेनेका की वैक्सीन कोविशील्ड की अनुशंसा आपातकालीन उपयोग के लिए की है। यह ऐसा पहला वैक्सीन है जिसे भारत में मंज़ूरी दी गयी है। इस वैक्सीन का निर्माण भारत में ही सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया द्वारा किया जा रहा है। गौरतलब है

Month:

निमोनिया के खिलाफ भारत का पहला स्वदेशी टीका लांच किया गया

हाल ही में केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने निमोनिया के खिलाफ भारत का पहला स्वदेशी टीका लांच किया। इस टीके का निर्माण सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन के साथ मिलकर किया है। इस टीके का नाम न्यूमोसिल है। मुख्य बिंदु भारत के पास निमोनिया के टीकों की पहुंच है। लेकिन

Month:

भारत ने निमोनिया के खिलाफ पहला स्वदेशी टीका विकसित किया

निमोनिया के खिलाफ पहला भारतीय टीका सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा विकसित किया गया है। यह टीका जल्द ही घरेलू निर्माताओं को उपलब्ध कराया जाएगा। मुख्य बिंदु भारत के पास निमोनिया के टीकों की पहुंच है। लेकिन  नया स्थानीय रूप से विकसित नया वैक्सीन अन्य निमोनिया टीके जैसे Pfizer के NYSE: PFE, GlaxoSmithKline के LSE: GSK टीकों

Month:

भारत बायोटेक ने इमरजेंसी यूज़ अथॉराईजेशन के लिए आवेदन किया

हाल ही में भारत बायोटेक ने केंद्रीय दवा नियामक, DCGI को आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण के लिए आवेदन दिया है। भारत बायोटेक द्वारा कोवाक्सिन नामक टीके का विकास किया गया है। इसके साथ भारत बायोटेक सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और फाइजर के बाद देश में COVID-19 वैक्सीन के आपातकालीन उपयोग की मंजूरी के लिए आवेदन करने वाला

Month:

Advertisement