जल जीवन मिशन

जल जीवन मिशन (Jal Jeevan Mission) ने 11 करोड़ नल जल कनेक्शन प्राप्त किए

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में 11 करोड़ नल जल कनेक्शन प्राप्त करने के लिए जल जीवन मिशन (Jal Jeevan Mission) की सराहना की। इस मिशन की घोषणा पीएम मोदी ने 2019 में की थी। इस मिशन का मुख्य उद्देश्य भारत के हर घर में नल का जल कनेक्शन उपलब्ध कराना है। और यह

Month:

गोवा में आयोजित किया गया ‘हर घर जल उत्सव’ (Har Ghar Jal Utsav)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 19 अगस्त, 2022 को गोवा में आयोजित किए गये ‘हर घर जल उत्सव’ को संबोधित किया। जल जीवन मिशन के तहत हर घर जल उत्सव का आयोजन किया गया। इस अवसर पर पानी के बिलों के लिए QR कोड भुगतान प्रणाली का भी उद्घाटन किया गया। मुख्य बिंदु  गोवा पहला ‘हर

Month:

जल शक्ति मंत्रालय ने स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण (Swachh Survekshan Grameen) 2021 लॉन्च किया

जल शक्ति मंत्रालय के राज्य मंत्री श्री प्रहलाद सिंह पटेल ने स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) चरण- II के तहत “स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण 2021” को लांच किया । मुख्य बिंदु इसे 9 सितंबर, 2021 को पेयजल और स्वच्छता विभाग द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में लॉन्च किया गया था। स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण 2021 पूरे देश में पेयजल और स्वच्छता विभाग द्वारा

Month:

जल जीवन मिशन (Jal Jeevan Mission) के लिए केंद्र द्वारा जारी किए गए 5,968 करोड़ रुपये

17 मई, 2021 को केंद्र सरकार ने जल जीवन मिशन (Jal Jeevan Mission) को लागू करने के लिए 5,968 करोड़ रुपये जारी किए। यह धनराशि 15 राज्यों को जारी की गई थी। 2021-22 में जारी होने वाली 4 किश्तों की यह पहली किश्त है। फंड आवंटन जल जीवन मिशन के तहत आवंटित कुल धनराशि में से 93%

Month:

आंध्र प्रदेश जल जीवन मिशन के तहत 32 लाख घरों को नल जल कनेक्शन प्रदान करेगा

हाल ही में आंध्र प्रदेश ने जल जीवन मिशन (Jal Jeevan Mission) के तहत चालू वित्त वर्ष में 32 लाख 47 हजार घरों को नल जल कनेक्शन देने की योजना बनाई है। इसके लिए हाल ही में आंध्र प्रदेश ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से अपने जल जीवन मिशन वार्षिक कार्य योजना प्रस्तुत की। मुख्य बिंदु

Month:

जल जीवन मिशन : 2021-22 के लिए राज्य-वार योजना अभ्यास शुरू हुआ

जल शक्ति मंत्रालय ने हाल ही में घोषणा की कि यह राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के साथ वार्षिक योजना अभ्यास शुरू करेगा। योजना क्या है? यह अभ्यास पेयजल और स्वच्छता विभाग के सचिव की अध्यक्षता में एक समिति द्वारा किया जायेगा। यह समिति प्रति दिन दो राज्यों या केंद्र शासित प्रदेशों पर काम करेगी। यह

Month:

Advertisement